मुख्य समाचार 

सेल्फी के चक्कर में 8 लोगों की मौत

महाराष्ट्र के नागपुर में वेना नदी के बांध पर पिकनिक मनाने गए 8 युवकों की डूबने से मौत हो गई. बताया जाता है कि युवक नाव पर सवार होकर सेल्फी ले रहे थे. इसी दौरान नाव का संतुलन बिगड़ गया और पलट गई. नाव में कुल 11 लोग नाव में सवार थे, जिनमें से 3 तो तैरकर बाहर निकल आए, लेकिन 8 की जलसमाधि बन गई.

पुलिस विभाग ने गोताखोरों की मदद से शव ढूंढने का काम शुरू कर दिया है. लेकिन देर रात तक 3 ही युवकों के शव ही बाहर निकाले जा सके हैं. मृतकों में राहुल जाधव, हिंगना निवासी अंकित अरुण भोसकर, परेश कोटके, हुड़केश्वर निवासी अतुल भोयर, उदयनगर निवासी पंकज डोईफोड़े, प्रतीक आमड़े, रोशन सनेश्वर खांदोर और अक्षय मोहन खांदोर का शामिल हैं.

जानकारी के मुताबिक 11 युवकों में से किसी एक जन्मदिन होने की वजह से यह सभी लोग रविवार को पिकनिक मनाने के मकसद से गए थे. सभी गोंडखैरी के पास वेना नदी में बोटिंग का लुत्फ उठा रहे थे. शाम 5.30 बजे तक सभी ने भोजन कर लिया. इसके बाद कुछ युवक किनारे पर नहाने गए तो कुछ मछली पकड़ रहे थे.

युवकों ने एक नाव में सवार होकर नदी में जाने का फैसला किया. किनारे से काफी दूर तक जाने के बाद यह लोग नाव में ही सेल्फी लेने लगे. ग्रुप सेल्फी लेते समय सभी नाव के एक तरफ हो गए. एक तरफ वजन बढ़ने के कारण नाव पलट गई. जो लोग तैर सकते थे वह बचने में कामयाब हुए बाकी लोग नदी में डूब गए. तैरकर बचे लोगों ने ही पुलिस को हादसे की जानकारी दी.

घटना की जानकारी मिलते ही एसपी शैलेष बलकवड़े, डीवाईएसपी सुरेश भोयर और कलमेश्वर इलाके के थानेदार राजू बहादुरे अपने दल के साथ घटनास्थल पर पहुंचे. पुलिस ने तुरंत जिला प्रशासन से मदद मांगी. आस-पास के मछुवारों को भी मदद के लिए बुलाया गया. तुरंत रेस्क्यू आपरेशन शुरू किया गया. दमकल विभाग और गोताखोरों ने रविवार रात 10 बजे तक 3 शव बाहर निकाल लिए थे. किनारे पर मिले मोबाइल से पुलिस ने परिजनों से संपर्क कर घटना की जानकारी दी. सभी युवक उदयनगर, दत्तात्रयनगर और आस-पास के इलाके के रहने वाले हैं. रात का अंधेरा होने के कारण बचावकार्य रोक दिया गया है. सोमवार को सुबह होते ही दोबारा खोज अभियान शुरु किया जाएगा.

सौजंय आज तक

Related News

Leave a Comment