समाचार 

सोना खरीदना है तो जल्दी करें, इन वजहों से हो सकता है महंगा…

अमेरिका और नॉर्थ कोरिया के बीच तनाव बढ़ने से इंटरनेशनल मार्केट में सोने की कीमतें 4 महीने के उच्चतम स्तर पर पहुंच गई हैं. वहीं, घरेलू बाजार में सोना पिछले 15 दिन में करीब 7 फीसदी महंगा हो गया है. माना जा रहा है कि जियोपॉलिटिकल टेंशन के चलते दुनियाभर में सेफ इन्वेस्टमेंट डिमांड बढ़ने लगी है. इससे निवेशकों का रुझान अब शेयर बाजार से सोने की ओर बढ़ गया है. इसीलिए एक्सपर्ट्स मान रहे हैं कि अगले 4 महीने में सोने की कीमतें 31,500 रुपए प्रति दस ग्राम तक पहुंच सकती हैं.

1450 रुपए महंगा हो सकता है सोना
केडिया कमोडिटी के एमडी अजय केडिया ने हिंदी.न्यूज18इंडिया.कॉम को बताया कि अमेरिका और नॉर्थ कोरिया के बीच बढ़ते तनाव के चलते दुनियाभर के निवेशक अब सेफ इन्वेस्टमेंट का रुख कर रहे हैं. इसीलिए कीमतों में तेजी है. आने वाले दिनों में घरेलू डिमांड बढ़ने से सोने का भाव मौजूदा स्तर से 1450 रुपए बढ़कर 31500 रुपए प्रति दस ग्राम तक पहुंच सकता है.

एसकोर्ट सिक्युरिटी के फंड मैनेजर आसिफ इकबाल ने हिंदी.न्यूज18इंडिया.कॉम को बताया कि कमजोर आर्थिक आंकड़ों के चलते अमेरिका में ब्याज दरें बढ़ने की संभावनाएं कम हो रही हैं. लिहाजा अगले 4 महीने में कीमतें बढ़ सकती हैं.

4 साल के उच्चतम स्तर पर पहुंच सकती हैं कीमतें
रूस के इन्वेस्टमेंट बैंक की हालिया रिपोर्ट में कहा गया है कि आने वाले दिनों में दुनिया के बड़े उपभोक्ता देशों की ओर से डिमांड बढ़ सकती है. साथ ही , ग्लोबल पॉलिटिकल रिस्क लगातार बढ़ रहा है. इसीलिए कीमतें 4 साल के उच्चतम स्तर 1400 डॉलर प्रति औंस पर पहुंच सकती हैं.

इन वजहों से आ सकती है तेजी
एक्सपर्ट्स का कहना हैं कि 2 महीने बाद शादियों का सीजन शुरू हो जाएगा, जिसके चलते डिमांड बढ़ने लगेगी. साथ ही, अभी तक मानसून सीजन में अच्छी बारिश हुई है. इसीलिए माना जा रहा है कि ग्रामीण इलाकों से भी डिमांड में इजाफा हो सकता है. इसके अलावा गोल्ड बॉन्ड के जरिए भी तेजी से निवेश बढ़ रहा है.

सोने का इंपोर्ट हुआ दोगुना
भारत में सोने का इंपोर्ट मौजूदा वित्त वर्ष की अप्रैल-जुलाई अवधि में दोगुने से भी अधिक होकर 13.35 अरब डॉलर हो गया है. वाणिज्य मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार सोने का इंपोर्ट 2016-17 की अप्रैल जुलाई अवधि में 4.97 अरब डॉलर रहा था.

सौजंय NEWS18

 

Related News

Leave a Comment